• Admin

CORONA TREATMENT,Must read ( Do and don't in corona )

मेरा आज बीसवां दिन है कोरोना का। मैं पांच दिन अस्पताल में रह कर आया हूं और आप सब के और ईश्वर के आशीर्वाद से अब पूरी तरह ठीक हूं।

मेरे अब तक के ज्ञान और अनुभव का निचोड़ मै यहां प्रस्तुत कर रहा हूं। कोरोना का अनुभव महत्वपूर्ण है क्योंकि वो सब के पास नही है और अगर आप मेरे इस अनुभव को सही से समझ कर अपनाते हैं तो 90% मौतें बच सकती हैं। कृपया अपने घर वालों, दोस्तों और परिजनों को जरूर बताएं। 10–15 मिनट का टाइम निकलकर जरूर पढ़ें । यह 100% बचने की गारंटी तो नही है लेकिन आप संतुष्ट होंगे की मैने अपना 100% प्रयास किया। आपका इस बीमारी के प्रति शुरू से गंभीर होना ही सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है। लिखने का उद्देश्य बहुत सारी भ्रांतियां दूर करना और सही जानकारी देना है। चूंकि मैं मेडिकल फील्ड से नहीं हूं इसलिए 100% सही होने का दावा नही कर सकता लेकिन इस भंवर में आपको सही दिशा जरूर मिलेगी।


अगर आप को इस समय बुखार, खांसी, बदन दर्द होता है तो सबसे पहले आप तुरंत मान लें कि आप को कोरोना हो गया है।


कोरोना का लक्षण इन्फेक्शन से दूसरे दिन से ले कर पांचवे दिन के बीच आता है।


चूंकि इन्फेक्शन कब आया ये निश्चित नहीं है अतः सभी काउंटिंग आप लक्षण वाले पहले दिन से करना शुरू करें।


तुरंत RTPCR टेस्ट कराएं लेकिन रिपोर्ट का इंतजार किए बिना इलाज शुरू कर दें। रिपोर्ट नेगेटिव आए तब भी इलाज जारी रखें क्योंकि 50% केस में नया कोरोना strain RTPCR में पकड़ में नहीं आ रहा है।


लक्षण के पहले तीन दिन महत्वपूर्ण हैं। इसमें आप खूब स्टीम ले कर कोरोना वायरस को नाक और साइनस में ही या फेफड़े की मुख्य नाली में ही खत्म करने की कोशिश कर सकते है।


इस बीच में आप विटामिन सी, मल्टी विटामिन, जिंक इत्यादि ले कर अपनी बॉडी की इम्यूनिटी बढ़ा सकते हैं और वायरस से लड़ने के लिए अपने आप को तैयार कर सकते हैं


अगर आपके लक्षण हल्के हैं या आपका स्वाद और गंध चला गया है तो संभवतः आपको mild (हल्का) COVID है।

अगर आपको तेज बुखार और बदन दर्द हुआ है तो संभवतः यह मध्यम दर्जे का (moderate) या Severe COVID होगा।


तीन दिन में अगर आपके लक्षण कम नही होते और बुखार बढ़ता है तो इसका मतलब है वायरस आपके फेफड़े में अंदर तक पहुंच चुका है। अब स्टीम कम कर दें -दिन में दो से तीन बार क्योंकि अब इसका रोल केवल आपके फे